Poetry

वादा ……………………by Sandeep Dutta

 

वादा करो, तो हमेशा,
वादा पूरा, कीया करो…।

पर कभी किसी से,
वादा न किया करो…।

कोशिश करेंगे, इस लब्ज़,
का इस्तेमाल, किया करो…।

अगली सांस का, भरोसा नहीं,
इस बात का फिक्र, किया करो…।

खुदा ने चाहा, तो फिर मिलेंगे,
उस पर यक़ीन, किया करो…।

हर सुबह, उसकी नेमत-ए-जीस्त,
का शुक्रिया, अदा किया करो…।

उसकी बाब-ए-रहमत से,
वजूद है, पूरी कायनात की…।

होसके तो, “मैं” अल्फ़ाज़ से,
किनारा कर लिया करो…।

वादा करो, तो हमेशा,
वादा पूरा, किया करो…।

पर कभी किसी से,
वादा न किया करो…।।

सन्दीप दत्ता –

Related Articles

3 thoughts on “वादा ……………………by Sandeep Dutta”

  1. Thank you for some other informative web site.
    Where else may I am getting that kind of information written in such an ideal way?
    I’ve a undertaking that I’m simply now operating on, and
    I have been on the look out for such info.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Enter Captcha Here : *

Reload Image

Close