Poetry

सावन मे निरंतर By Dr Shyam Bharti

भोजपुरी शिव भजन ( शिव विवाह ) – गंजेड़िया मिलल बा रे माई |

 

अंग भुजंग सटे ,भोला बम बम रटे |सावन मे निरंतर
भोजपुरी शिव भजन ( शिव विवाह ) 06 – गंजेड़िया मिलल बा रे माई |

अंग भुजंग सटे ,भोला बम बम रटे |
करब ना हम शादी ,होई बरबादी |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |

बारात भूत प्रेत चले |
संग भालू बंदर चले |
देखत मैना खूब डर लागे |
लोगवा गिरत परत दूर भागे|
काहे गईले भोला अब कोहाई |
हो जाइब पराई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |

बसहा बयल भोला सवारी |
चलले संगवा देव त्रिपुरारी |
डम डम डमरू बाजन लागे |
भूत पिशाच सब नाचन लागे |
करे गौरा दोहाई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |

दौड़ी मैना नारद दाढ़ी नोचे |
ब्र्म्हा मन ही मन सोचे |
मिली देव शिव मनावन लागे |
दूल्हा रूप शिव देखावन लागे |
भईले गौरा बिदाई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |
श्याम कुँवर भारती [राजभर] कवि ,लेखक ,गीतकार ,समाजसेवी ,
मोब /वाहत्सप्प्स -9955509286
करब ना हम शादी ,होई बरबादी |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |

बारात भूत प्रेत चले |
संग भालू बंदर चले |
देखत मैना खूब डर लागे |
लोगवा गिरत परत दूर भागे|
काहे गईले भोला अब कोहाई |
हो जाइब पराई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |

बसहा बयल भोला सवारी |
चलले संगवा देव त्रिपुरारी |
डम डम डमरू बाजन लागे |
भूत पिशाच सब नाचन लागे |
करे गौरा दोहाई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |

दौड़ी मैना नारद दाढ़ी नोचे |
ब्र्म्हा मन ही मन सोचे |
मिली देव शिव मनावन लागे |
दूल्हा रूप शिव देखावन लागे |
भईले गौरा बिदाई |
गंजेड़िया मिलल बा रे माई |
किस्मतीया फुटल बा रे माई |
श्याम कुँवर भारती [राजभर] कवि ,लेखक ,गीतकार ,समाजसेवी ,

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Enter Captcha Here : *

Reload Image

Close